65 नहीं 16 सीट पर सिमटेगी भाजपा, झारखंड में बनेगी गठबंधन की सरकार : बघेल

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा के 65 प्लस के दावे को खारिज करते हुए कहा कि भाजपा 16 सीटों पर सिमटने जा रही है। झारखंड में गठबंधन की पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी। बघेल गुरुवार को रांची स्थित कांग्रेस भवन में मीडिया से बात कर रहे थे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि झारखंड की कुल 81 विधानसभा सीटों में 65 को घटा दें तो सिर्फ 16 सीटें भाजपा को आने जा रही है। छत्तीसगढ़ में भी भाजपा ने ऐसा ही दावा किया था, लेकिन मात्र 15 सीटें आयीं, जबकि गुजरात में 150 सीट के दावे पर सिर्फ 99 सीटें मिली।

उन्होंने कहा कि भाजपा के सहयोगी दलों में भगदड़ मची हुई है। चाहे महाराष्ट्र की बात हो चाहे झारखंड की या फिर उत्तर प्रदेश-बिहार की। झारखंड में भाजपा की सहयोगी आजसू पार्टी के साथ-साथ जदयू-लोजपा भी अलग-अलग लड़ रही है। रघुवर सरकार के मंत्री रहे सरयू राय मुख्यमंत्री के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं। इससे साफ है कि भाजपा में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। महाराष्ट्र और हरियाणा के रिजल्ट ने बता दिया है कि देश बदल रहा है और झारखंड में भी यह दोहराने वाला है। प्रेस कांफ्रेंस में राज्य समन्वयक अजय शर्मा, राष्ट्रीय मीडिया पैनलिस्ट जरिता नेटफ्लांग, कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर और केशव महतो कमलेश मौजूद थे।

रघुवर दास ने तो हाथी उड़ा दिया
मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि रघुवर सरकार में उपलब्धियां देखने को नहीं मिली। ऐसे सपने दिखाये गये जो पूरा नहीं हो सकता था। अब हाथी को चलते-तैरते देखा था उसे हवा में उड़ता पहली बार देखा। यह सब मोदी है तो मुमकिन है। उन्होंने कहा कि भाजपा अपने संकल्प पत्र में आरक्षण की बात कर रही है। जब पांच साल सरकार में थे तो लागू क्यों नहीं किया?

बैंक बंद हो रहे और लैंड बैंक बन रहा 
बघेल ने कहा कि देश में आज बैंक बंद हो रहे हैं और झारखंड में लैंड बैंक बन रहा है। बैंकों के पैसे से ध्यान हटाकर जमीन लूटने पर ध्यान केंद्रीत किया गया है। राज्य की उन्नति व विकास में ध्यान नहीं है। लोगों के हाथों से नौकरी छिन गयी और बेरोजगारी चरम पर है।

समय के साथ करने पड़ते हैं समझौते 
मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि महाराष्ट्र में शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस की सरकार कॉमन मिनिमम प्रोग्राम पर बनी है। कांग्रेस अपने सिद्धांतों के साथ कभी समझौता नहीं करने वाली है। समय के साथ कुछ समझौते करने पड़े हैं। जो बहुत कट्टर थे उन्हें भी नरम होना होगा और यह दिखाई भी दे रहा है। प्रेस कांफ्रेंस के बाद कांग्रेस भवन में उन्होंने कहा कि भाजपा की सत्ता की भूख महाराष्ट्र में दिखाई दी। किस हद तक वे जा सकते हैं यह देश की जनता ने देखा। जिस प्रकार पटखनी भाजपा खायी और चारो खाने चित हुई, इससे दोबारा इस तरह का खेल कहीं और करने की कोशिश नहीं करेगी। मोदी फैक्टर भी काम नहीं कर रहा है। महाराष्ट्र-हरियाणा गये, लेकिन उनकी लोकप्रियता में गिरावट दिखती रही। भाजपा दूसरों के भरोसे चलना चाहती है और वास्तविक मुद्दा भटकाती है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.

Lok Shakti

FREE
VIEW