टीम इंडिया ने रूस से 18 साल में पांच मैच खेले, एक भी नहीं हारी

भारत की पुुरुष और महिला हॉकी टीमें शुक्रवार और शनिवार को ओलिंपिक क्वालिफायर मैच खेलेंगी। पुरुष टीम रूस से और महिला टीम अमेरिका से भिड़ेगी। जीतने वाली टीम अगले साल टोक्यो में होने वाले ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करेगी। ये मैच भुवनेश्वर के कलिंगा स्टेडियम में खेले जाएंगे। महिला टीम के मैच शाम 6 बजे से और पुरुष टीम के मैच रात 8 बजे से होंगे। रूस की टीम 27 अक्टूबर और अमेरिका की टीम 25 अक्टूबर को भुवनेश्वर पहुंच गई थी। भारतीय टीमें भी पिछले हफ्ते से कलिंगा स्टेडियम में प्रैक्टिस कर रही हैं।

अगर रिकॉर्ड की बात की जाए तो भारत की पुुरुष टीम रूस की तुलना में काफी मजबूत है। उसके लिए ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करना कठिन नहीं है। टीम इंडिया की वर्ल्ड रैंकिंग 5 और रूस की 22 है। भारतीय टीम रूस से अब तक 5 मैच खेली है। उसने एक भी मैच नहीं गंवाया है। उसने सभी मैच जीते हैं। भारत और रूस ने पहला मैच 2001 में खेला था। टीम इंडिया ने जून में हॉकी सीरीज फाइनल्स में रूस को 10-0 से हराया था।

कप्तान मनप्रीत सिंह को 259 मैच का अनुभव
भारतीय टीम की कमान अनुभवी खिलाड़ी मनप्रीत सिंह के हाथों में हैं। मनप्रीत को 259 मैचों का अनुभव है। वहीं इस साल मनदीप 17, हरमनप्रीत 13 गोल कर चुके हैं। भारतीय टीम 2019 में अब तक 22 मैचों में 100 गोल कर चुकी है। भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के ग्राहम रीड की कोचिंग में अब तक 16 मैच में से 13 जीत चुकी है।

भारत ओलिंपिक की सबसे सफल टीम, 8 गोल्ड जीते हैं
भारत ओलिंपिक की सबसे सफल टीम है। उसने 20 बार हिस्सा लिया है। 8 गोल्ड, 1 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज जीते। भारत ने सबसे ज्यादा 126 मैच खेले, सबसे ज्यादा 77 मैच जीते हैं। भारत के नाम ओलिंपिक में 433 गोल का अॉलटाइम रिकॉर्ड भी है। लेकिन 1980 के बाद भारतीय टीम का ओलिंपिक में प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। उसने आखिरी मेडल (गोल्ड) 1980 में मॉस्को में जीता था। उसके बाद टीम फाइनल में भी जगह नहीं बना पाई।

चोटिल वरुण की जगह बीरेंद्र टीम में
पुरुष हॉकी टीम में चोटिल वरुण कुमार की जगह बीरेंद्र लाकड़ा को शामिल किया गया है। वरुण को सोमवार को अभ्यास के दौरान कंधे पर चोट लग गई थी। उनका इलाज चल रहा है, लेकिन सुधार नहीं हो पाया है। बीरेंद्र लाकड़ा 170 से ज्यादा इंटरनेशनल मैच खेल चुके है।

भारत की महिला टीम अमेरिका के खिलाफ 29 में से 4 मैच जीत सकी है
भारतीय महिला टीम के सामने अमेरिका की टीम है। भारत की वर्ल्ड रैंकिंग 9 और अमेरिका की 13 है। अमेरिका ने 1984 ओलिंपिक, 1994 वर्ल्ड कप और 1995 व 2016 चैंपियंस ट्रॉफी में ब्रॉन्ज जीते हैं। भारत-अमेरिका ने 1956 में पहला मैच खेला था। तब से दोनों टीमों के बीच 29 मैच हो चुके हैं। भारत ने सिर्फ 4 जीते हैं, जबकि 16 में उसे हार मिली है। 9 ड्रॉ रहे हैं। दोनों के बीच आखिरी मुकाबला लंदन वर्ल्ड कप में खेला गया था। वह मैच 1-1 से ड्रॉ रहा था।

भारतीय टीम में कप्तान रानी समेत तीन खिलाड़ियों के 200 से ज्यादा मैच हैं
भारतीय टीम में तीन खिलाड़ी ऐसी हैं, जो 200 से ज्यादा मैच खेल चुकी हैं। कप्तान रानी रामपाल ने 239, वंदना कटारिया ने 238 और गोलकीपर सविता ने 200 मैच खेले हैं। वहीं, अमेरिका की कप्तान कैथलीन शारके (174 मैच) सबसे अनुभवी खिलाड़ी हैं। उसकी गोलकीपर भी ज्यादा अनुभवी नहीं हैं। यानी, इस मैच को अनुभवी और युवा खिलाड़ियों का मुकाबला माना जा सकता है। भारतीय टीम श्योर्ड मारिने की कोचिंग में 86 में से 42 मैच जीत चुकी है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.

Lok Shakti

FREE
VIEW