Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें

अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ श्री नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के अभिनव प्रयास से प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित है। अन्य प्रदेशों में कोविड के केस बढ़ रहे है। उन्होंने बताया कि 3टी के कारण ही 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 3,10,783 से घटकर मात्र 175 हो गये है तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर 14 हो गये है। निगरानी समितियों द्वारा घर-घर जाकर जानकारी प्राप्त करने का अभिनव प्रयोग केवल यू0पी0 में हो रहा है। सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.24 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है। लक्षणयुक्त व्यक्तियों का टेस्ट कराकर संक्रमण होने पर निःशुल्क मेडिकल किट भी बांटी गयी है।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं जा रही हैं। कोविड संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए समय से पहचान व इलाज जरूरी है। कल एक दिन में 1,80,599 कोविड टेस्ट किये गये है, अब तक 7,51,27,089 कोविड टेस्ट किये गये है जो कि देश में सर्वाधिक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस, टेस्टिंग एवं टीकाकरण का कार्य वृहद स्तर पर किया जा रहा है। प्रदेश में पहली डोज 7,22,57,443 तथा दूसरी डोज 1,46,59,873 तथा कुल 8,69,17,316 डोजें लगायी गयी हैं, जोकि देश में सर्वाधिक है।
श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर बरसात के मौसम को देखते हुए डेंगू, मलेरिया व अन्य वायरल बीमारियों के संदिग्ध मरीजों की पहचान के लिए प्रदेशव्यापी सर्विलांस अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के अन्तर्गत बरसात के बाद मच्छरजनित और जलजनित रोग से बचने के लिए साफ-सफाई का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इस अभियान को संचालित करने हेतु वरिष्ठ नोडल अधिकारियों को जनपदों में भेजा गया है।
श्री सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी आज जनपद अलीगढ़ में प्रधानमंत्री जी के शिलान्यास कार्यक्रमों का जायजा ले रहे है। मुख्यमंत्री जी कल 14 सितम्बर, 2021 को जनपद अलीगढ़ में प्रधानमंत्री जी के प्रस्तावित डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर एवं राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय के शिलान्यास कार्यक्रम में जायेंगे। परियोजना में स्थानीय लोगों को लाभ होगा। विश्वविद्यालय के माध्यम से आधुनिक शिक्षा व विद्या से क्षेत्रीय युवा पारगंत होंगे। उन्होंने बताया कि कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण करे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें।

%d bloggers like this: