Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

खुशमिजाज, हरफनमौला और दिलेर थे मेजर मयंक विश्नोई, दान कर दिया था शौर्य चक्र….

शहीद मेजर मयंक विश्नोई -File phot

जम्मु कश्मीर के शोपियां में शहीद हुए मेरठ के मेजर मयंक विश्नोई का आज उनके पैतृक आवास पर अंतिम संस्कार किया जाएगा। शहीद के स्वागत के लिए शहर ने पूरी तैयारियां कर ली हैं। दोपहर एक बजे हिंडन एयरबेस से उनके पार्थिव शरीर को सैन्य वाहन से उनके आवास पर ले जाया जाएगा। शहीद मेजर के पार्थिव शरीर के साथ ही उनकी पत्नी स्वाति भी लौट रहीं हैं।

शहादत के बाद छोटे भाई मयंक की बातें याद कर बहन तनु और अनु फफक पड़ती हैं। वह कह रही हैं कि जो बात कहता था आज वह सच हो गई। बहन तनु ने बताया कि मयंक हमेशा से ही दुश्मनों को चित करने के लिए सबसे आगे रहता था। घर पर जब भी आता था तो कहता था कि तुम्हारा भाई ऐसे ही नहीं है ऑपरेशन के दौरान हमेशा आगे रहता है।

बहनें बताती हैं कि उनका भाई खुशमिजाज, हरफनमौला और नेकदिल इंसान था। बता दें कि शहीद मेजर मयंक विश्नोई अपना शौर्य चक्र भी एक सैन्य अधिकारी को दान कर चुके थे।

%d bloggers like this: