Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

मस्जिद का गुंबद बनाने को लेकर विवाद, तनाव के चलते पुलिस ने हटवाया गुंबद

मस्जिद का गुंबद बनाए जाने का विरोध करते एक संप्रदाय के लोग।

मीरगंज के गांव मनकरा का मामला, आमने-सामने आए दोनों समुदायों के लोग
मीरगंज। पूर्व में हुए विवाद के बावजूद मनकरा गांव की मस्जिद पर गुंबद का निर्माण शुरू कराने से माहौल गरमा गया। दोनों समुदाय के लेाग आमने-सामने आ गए और उनमें विवाद होने लगा। मौके पर पहुंची पुलिस ने कई घंटे की मशक्कत के बाद मस्जिद से गुंबद हटवाकर माहौल शांत किया। तनाव को देखते हुए गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है।
गांव मनकरा में हिंदू आबादी के बीच कई साल पुरानी मस्जिद है। इस पर गुंबद नहीं बना है। शनिवार सुबह अचानक मस्जिद की छत पर गुंबद बनाने का काम शुरू कर दिया गया। इसका दूसरे पक्ष के लोग मौके पर पहुंचकर विरोध करने लगे। कुछ ही देर में वहां दोनों पक्षों के लोग जमा हो। गुंबद निर्माण को लेकर दोनों में बहस होने लगी और स्थिति बेहद तनाव पूर्ण हो गई। सूचना पर दरोगा जितेंद्र कुमार फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे।
पुलिस ने दोनों पक्षों को पूर्व माध्यमिक विद्यालय में बैठाकर समझौता कराने का प्रयास किया, लेकिन हिंदू पक्ष के लोगों ने कहा कि पांच साल पहले भी इस तरह की हरकत करके माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई थी। अब दोबारा ऐसा करने की कोशिश की गई है। इस पर मुस्लिम पक्ष के लोगों ने कई साल पुराने मंदिर की मरम्मत का मुद्दा उठाकर हंगामा करना शुरू कर दिया। जिला पंचायत सदस्य निरंजन यदुवंशी ने भी समझौता कराने का प्रयास किया, लेकिन दोपहर एक बजे माहौल ज्यादा गरमा गया।
सूचना पर इंस्पेक्टर क्राइम राजेश कुमार बड़ी तादात में फोर्स लेकर पहुंच गए और पूरे इलाके को पुलिस छावनी बना दिया गया। मौके पर जुटी भीड़ को पुलिस ने वहां से खदेड़ दिया। इसके बाद लोगों को समझाकर गुंबद बनाने को रखे गए पत्थर उतरवाने शुरू कर दिए। इस प्रक्रिया में करीब एक घंटे का समय लगा। इसके बाद लोगों में के बीच फिर समझौता कराने की कोशिश की गई, लेकिन बता नहीं बनी तो गांव में पुलिस तैनात कर दी गई।
नया निर्माण न करने की सहमति पर समझौता
देर रात पुलिस ने दोनों समुदाय के लोगों को थाने बुलाकर दोबारा बातचीत की। इस दौरान तय किया गया कि गांव में मंदिर या मस्जिद किसी भी धर्मस्थल में कोई नया निर्माण नहीं होगा। थाने में हुई पंचायत में इस पर सहमति बन गई। तय किया गया कि मस्जिद और मंदिर कहीं पर भी कोई भी नया निर्माण कार्य नहीं होगा। केवल मरम्मत कार्य या रंगाई पुताई कराई जा सकेगी। दोनों पक्षों ने पुलिस को फैसला नामा लिखकर दे दिया। इस दौरान गांव मनकरा के सचिन, सुनील कुमार, केवल राम, विशाल गंगवार, ओमकार एवं दूसरे समुदाय के बाबू खां, इस्लाम, अकबर हुसैन, अबरार हुसैन, सलीम आदि मौजूद रहे।

%d bloggers like this: