Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Prayagraj News: मल्टी लेवल पार्किंग, एडवोकेट चैंबर, नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी…प्रयागराज को राष्ट्रपति कोविंद ने दी 3 सौगात

Prayagraj News: मल्टी लेवल पार्किंग, एडवोकेट चैंबर, नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी...प्रयागराज को राष्ट्रपति कोविंद ने दी 3 सौगात

प्रयागराज
प्रयागराज को राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की सौगात मिली है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इसकी आधारशिला रखी। वहीं इलाहाबाद हाई कोर्ट में मल्टी लेवल पार्किंग के साथ 2500 वकीलों के चैंबर की भी सुविधा दी जाएगी। बताते चलें कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद प्रयागराज के दौरे पर हैं। यहां उन्होंने हाई कोर्ट परिसर में मल्टी लेवल पार्किंग और अधिवक्ता चैंबर का भी शिलान्यास किया।

इससे पहले प्रयागराज पहुंचने पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, कानून मंत्री किरेन रिजिजू और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने उनका स्वागत किया। इस दौरान उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और प्रयागराज की महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी भी मौजूद रहीं। शिलान्यास कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘प्रयागराज की एक प्रमुख पहचान शिक्षा के केंद्र के रूप में रही है। मेरी शुभकामना है कि राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, प्रयागराज, योजनानुसार स्थापित तथा विकसित हो। यहां के विद्यार्थी न्यायपूर्ण सामाजिक व आर्थिक प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं।’

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान कहा, ‘प्रयागराज का उच्च न्यायालय एशिया का सबसे बड़ा उच्च न्यायालय है। न्यायालय में मल्टीलेवल पार्किंग जो बन रहा है ये केवल मल्टीलेवल पार्किंग नहीं बल्कि इसमें 4000 वाहनों की सुविधा के साथ-साथ 2,500 अधिवक्ताओं के लिए चैंबर की सुविधा होगी।’

राष्ट्रपति ने झलवा में बनाए जाने वाले राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय की आधारशिला भी रखी। हाईकोर्ट परिसर में आयोजित कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना भी शामिल हुए। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रमन्ना ने इस दौरान कहा, ‘इलाहाबाद हाई कोर्ट का इतिहास 150 साल पुराना है। 1975 में जस्टिस जे लाल सिंह ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के निर्वाचन को रद्द करने का फैसला सुनाया था।’

राष्ट्रपति कोविंद के सुरक्षा प्रोटोकॉल को लेकर शहर में चप्पे-चप्पे पर नाकेबंदी कर दी गई। एक दिन पहले ही केंद्रीय बल के जवान सुरक्षा ड्यूटी पर तैनात कर दिए गए। प्रोलोग्राउंड व हाईकोर्ट परिसर को सुरक्षा एजेंसियों ने अपने कब्जे में ले लिया। वहीं अफसरों और पुलिसकर्मियों को मिलाकर 4000 से ज्यादा जवान सुरक्षा में तैनात किए गए। पुलिस व प्रशासनिक अफसरों की गाड़ियां दिनभर दौड़ती रहीं। पुलिस अफसरों की मौजूदगी में बम्हरौली से सर्किल हाउस और फिर पोलो ग्राउंड से हाईकोर्ट कार्यक्रम स्थल तक फ्लीट रिहर्सल भी किया गया।

एसपी ट्रैफिक ने बताया कि प्रयागराज से जौनपुर-वाराणसी मार्ग से वाहन आ-जा सकेंगे। बसों व दूसरे वाहन सिविल लाइंस हनुमान मंदिर, मेडिकल चौराहा और फिर रामबाग फ्लाइओवर ब्रिज होते हुए बैरहना, अलोपीबाग फ्लाइओवर शास्त्री पुल पर जाएंगे। रीवा, चित्रकूट, मीरजापुर के लिए रामबाग फ्लाइओवर से बैरहना, बांगड़ चौराहा से नया यमुना पुल होते हुए लेप्रोसी मिशन चौराहे का रूट निर्धारित किया गया है।

(आईएएनएस से मिले इनपुट के साथ)

%d bloggers like this: