June 19, 2021

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

रार नहीं, यह रणनीति है… BJP ने फूंक दिया चुनावी बिगुल!

Uttar Pradesh Politics: रार नहीं, यह रणनीति है... BJP ने फूंक दिया चुनावी बिगुल! योगी के दिल्ली दौरे की क्रोनोलॉजी समझिए

सीएम योगी ने दिल्ली में पीएम मोदी से मुलाकात कीबीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भी की मुलाकातकल ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से की थी भेंटउत्तर प्रदेश के सियासी गलियारों में हलचल तेजलखनऊउत्तर प्रदेश में बढ़ती राजनीतिक गतिविधियों के हिसाब से साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि प्रदेश में अब आगामी विधानसभी चुनावों (up assembly election 2022) को लेकर सत्ताधारी पार्टी बीजेपी ने गोलबंदी तेज कर दी है। लगातार संगठन और प्रदेश के नेतृत्व का दिल्ली टू लखनऊ और लखनऊ टू दिल्ली (Delhi) का सफर जारी है। अभी सिर्फ कयासों का बाजार ही गर्म है लेकिन सभी जानते हैं कि सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) का दिल्ली दौरा केवल शिष्टाचार भेंट नहीं बल्कि इससे कहीं ज्यादा है। सीएम योगी के दिल्ली कूच (CM Yogi Adityanath Delhi Visit) से बीजेपी के प्रदेश संगठन और सरकार में फेरबदल की आहट एक बार तेज हो गई है।दरअसल दो दिन के दौरे पर दिल्ली गए उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ की शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। पीएम से मुलाकात के बाद योगी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के मिलने के लिए उनके आवास पहुंचे। नड्डा और योगी के बीच की मुलाकात काफी अहम मानी जा रही है।Modi Yogi Meeting: क्या और मजबूत होकर यूपी आ रहे योगी? पीएम मोदी से 80 मिनट की मीटिंग के क्या मायने?केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह से हुई थी मुलाकातगुरुवार को सीएम योगी केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मिले थे। सीएम योगी ने ट्वीट कर इसे एक शिष्टाचार मुलाकात बताया है। लेकिन, दोनों नेताओं के बीच करीब डेढ़ घंटे तक बातचीत हुई।

हालांकि, इस मुलाकात में क्या बातचीत हुई इसकी जानकारी नहीं मिली। लेकिन राजनीतिक हलको में चर्चा है कि यूपी के राजनीतिक हालात और आनेवाले विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा हुई।Modi – Yogi Meeting : योगी की अब मोदी से मीटिंग, शाह से मुलाकात की ये तस्वीरें बता रहीं अंदर की कहानीयूपी के सियासी गलियारों में हलचल तेजबीते कुछ समय से यूपी की सियासी गतिविधियों में तेजी आयी है। इसको लेकर सत्ता के गलियारों में कई तरह की चर्चा हो रही है। बीजेपी की केंद्रीय टीम के लखनऊ दौरे से लेकर पार्टी के यूपी प्रभारी राधा मोहन सिंह के राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात ने सियासी तपिश और बढ़ा दी है। ऐसे में अब सीएम योगी का अचानक दिल्ली दौरे और बीजेपी के शीर्ष नेताओं से मुलाकात ने यूपी की राजनीति में हलचल पैदा कर दी है।

योगी से मिल शाह ने की अनुप्रिया पटेल के साथ बैठक, क्‍या सोच रहा BJP आलाकमान?बीएल संतोष ने भी किया था दो दिवसीय दौराइन प्रयासों के तहत पार्टी और सरकार के बीच समन्वय में सुधार लाने के उद्देश्य से, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष इस सप्ताह की शुरुआत में लखनऊ पहुंचे और कुछ मंत्रियों और नेताओं के साथ आमने-सामने बैठकर बात की। संतोष के साथ राधा मोहन सिंह भी थे। बीएल संतोष ने भी यूपी आकर प्रदेश संगठन की नब्ज टटोली थी। इसके अलावा उन्होंने तमाम मंत्रियों और विधायकों से भी मुलाकात की थी। बीएल संतोष ने अपनी इन मीटिंग्स की रिपोर्ट केंद्रीय नेतृत्व को भी सौंपी थी।UP Cabinet Expansion: सीएम योगी आदित्यनाथ के वापस लौटते ही यूपी में कैबिनेट विस्तार तय, जितिन प्रसाद और एके शर्मा को मिल सकती है जगह!पिछली बार मिला था पूर्ण बहुमत, अबकी राह नहीं आसानउत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा के चुनाव होने हैं। 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को 300 से ज्यादा सीटों के साथ भारी बहुमत मिला था। ऐसे में बीजेपी की सक्रियकता को अगले साल के चुनाव से जोड़कर भी देखा जा रहा है। ऐसे में बीजेपी अपनी तैयारी पुख्ता करना चाहती है. क्योंकि, पंचायत चुनाव में मिली करारी हार ने यह तो साफ कर दिया है कि पार्टी के लिए यूपी में आगे की राह आसान नहीं होगी।ओम प्रकाश राजभर का BJP पर निशाना, कहा- केशव मौर्या को किया था CM बनाने का वादा, चुनाव के वक्त ही याद आते हैं पिछड़े

%d bloggers like this: