Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

शादी के नाम पर फर्जीवाड़ा, 45 हजार का लगाया चूना 

सांकेतिक तस्वीर

अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Published by: विनोद सिंह
Updated Tue, 04 May 2021 01:05 AM IST

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

कर्नलगंज निवासी संतराम से बेटी की शादी के नाम पर फर्जीवाड़ा किया गया। ठगों ने झांसा देकर उनसे 45 हजार रुपये ऐंठ लिए। बाद मे उन्होंने अपने साथ हुए धोखे की जानकारी हुई जिसके बाद उन्होंने पुलिस से शिकायत की। मोबाइल नंबर के आधार पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। चांदपुर सलेारी निवासी भुक्तभोगी ने पुलिस को बताया कि बेटी के लिए वैवाहिक विज्ञापन में दिए नंबर पर कॉल करने पर पिछले महीने उन्होंने फोटो व बयोडाटा देखने के बाद शादी के लिए हां कर दी। अगले दिन वरपक्ष ने भी सहमति देते हुए बताया कि परिवार दर्शन करने राजस्थान जा रहा है और वापस आने पर शादी की  अन्य बातें तय होंगी। अगले ही दिन अज्ञात नंबर से फोन कर खुद को दरोगा बताने वाले शख्स ने कहा कि आपके रिश्तेदार की गाड़ी से एक्सीडेंट हो गया है।नाराज गांववालों ने मारपीट करते हुए सभी का मोबाइल तोड़ दिया  है। साथ ही उसने होने वाले रिश्तेदार से फोन पर बात कराई जिन्होंने बताया कि समझौते के लिए 35 हजार व अन्य खर्च के लिए 10 हजार की जरूरत है। जिसके बाद उन्होंने पेटीएम के माध्यम से रुपये भेज दिए। इसके बाद फोन करने पर लगातार नंबर बंद मिला। बायोडाटा में दिए गए पते की तस्दीक कराई तो वह फर्जी निकला। इसके बाद उन्हें अपने साथ हुई ठगी समझ में आई। पुलिस ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

विस्तार

कर्नलगंज निवासी संतराम से बेटी की शादी के नाम पर फर्जीवाड़ा किया गया। ठगों ने झांसा देकर उनसे 45 हजार रुपये ऐंठ लिए। बाद मे उन्होंने अपने साथ हुए धोखे की जानकारी हुई जिसके बाद उन्होंने पुलिस से शिकायत की। मोबाइल नंबर के आधार पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

चांदपुर सलेारी निवासी भुक्तभोगी ने पुलिस को बताया कि बेटी के लिए वैवाहिक विज्ञापन में दिए नंबर पर कॉल करने पर पिछले महीने उन्होंने फोटो व बयोडाटा देखने के बाद शादी के लिए हां कर दी। अगले दिन वरपक्ष ने भी सहमति देते हुए बताया कि परिवार दर्शन करने राजस्थान जा रहा है और वापस आने पर शादी की  अन्य बातें तय होंगी। अगले ही दिन अज्ञात नंबर से फोन कर खुद को दरोगा बताने वाले शख्स ने कहा कि आपके रिश्तेदार की गाड़ी से एक्सीडेंट हो गया है।

नाराज गांववालों ने मारपीट करते हुए सभी का मोबाइल तोड़ दिया  है। साथ ही उसने होने वाले रिश्तेदार से फोन पर बात कराई जिन्होंने बताया कि समझौते के लिए 35 हजार व अन्य खर्च के लिए 10 हजार की जरूरत है। जिसके बाद उन्होंने पेटीएम के माध्यम से रुपये भेज दिए। इसके बाद फोन करने पर लगातार नंबर बंद मिला। बायोडाटा में दिए गए पते की तस्दीक कराई तो वह फर्जी निकला। इसके बाद उन्हें अपने साथ हुई ठगी समझ में आई। पुलिस ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

%d bloggers like this: