Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

जिला पंचायत की कई सीटों पर अपनों से ही झटका खा गए भाजपा समर्थित उम्मीदवार

bjp logo

अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Published by: विनोद सिंह
Updated Tue, 04 May 2021 01:34 AM IST

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

जिला पंचायत सदस्य का चुनाव परिणाम भले ही अभी पूरा जारी न हुआ हो लेकिन सोमवार की रात तक तमाम सीटों के रुझान से भाजपा कई सीटों पर पीछे रह गई।  यमुनापार एवं गंगा पार की कई सीटों पर भाजपा समर्थित उम्मीदवार को पार्टी की ही बागी उम्मीदवारों से टक्कर मिली। कई सीटों पर उम्मीद से कम वोट मिलने की वजह से मतगणना स्थल से भाजपा समर्थक उम्मीदवार अपने घर चले गए।जिला पंचायत सदस्य की सभी 84 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी ने अपने समर्थित उम्मीदवारों को खड़ा किया। पार्टी ने चुनाव प्रचार भी पूरे दमखम के साथ किया, लेकिन पंचायत सदस्य की मतगणना में सोमवार की रात तक प्राप्त आंकड़े के अनुसार पार्टी आशा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सकी। यमुनापार की बात करें करछना ब्लॉक के सभी पांच वार्ड में पार्टी के समर्थित प्रत्याशी चुनाव नहीं जीत सके। यहां पार्टी के बागी उम्मीदवारों ने भी समर्थित प्रत्याशियों के वोट में सेंध लगा दी। करछना तृतीय वार्ड संख्या 54 से भाजपा समर्थित उम्मीदवार सुबोध सिंह चुनाव हार गए। इस सीट से राजेश पटेल को जीत मिली। बताया जा रहा है राजेश पटेल भाजपा से ही हैं।  इसके अलावा वार्ड 52 से कृष्णा कांत निषाद, 53 से त्रिवेणी प्रसाद पांडेय,  55 से सेवा लाल पटेल और वार्ड 56 से विष्णु प्रसाद शुक्ला को भी हार मिली।हालांकि वार्ड 59 कौंधियारा तृतीय से पार्टी समर्थित उम्मीदवार राजेश कनौजिया चुनाव जीत गए। वार्ड 69 मेजा  द्वितीय से नीलम पटेल चुनाव जीत गई, जबकि वार्ड 76 मांडा द्वितीय पार्टी समर्थित उम्मीदवार सविता त्रिपाठी पीछे चल रही थी।  इसी तरह वार्ड 79 कोरांव प्रथम में आरती देवी कोल की बढ़त रात दस बजे  तकबनी हुई थी। उरुवा द्वितीय वार्ड से प्रतिमा शुक्ला पार्टी की दूसरी नेता आरती राज से हार गई। इसी तरह उरुवा प्रथम सीट भी भाजपा बागी प्रत्याशी की वजह से हार गई। वहीं दूसरी ओर जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह वार्ड संख्या 77 मांडा तृतीय से अच्छी बढ़त बनाए हुए थी। वहीं गंगापार में वार्ड संख्या 13 हंडिया चतुर्थ से भाजपा के वीके सिंह ने चुनाव जीत लिया।

विस्तार

जिला पंचायत सदस्य का चुनाव परिणाम भले ही अभी पूरा जारी न हुआ हो लेकिन सोमवार की रात तक तमाम सीटों के रुझान से भाजपा कई सीटों पर पीछे रह गई।  यमुनापार एवं गंगा पार की कई सीटों पर भाजपा समर्थित उम्मीदवार को पार्टी की ही बागी उम्मीदवारों से टक्कर मिली। कई सीटों पर उम्मीद से कम वोट मिलने की वजह से मतगणना स्थल से भाजपा समर्थक उम्मीदवार अपने घर चले गए।

जिला पंचायत सदस्य की सभी 84 सीटों पर भारतीय जनता पार्टी ने अपने समर्थित उम्मीदवारों को खड़ा किया। पार्टी ने चुनाव प्रचार भी पूरे दमखम के साथ किया, लेकिन पंचायत सदस्य की मतगणना में सोमवार की रात तक प्राप्त आंकड़े के अनुसार पार्टी आशा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सकी। यमुनापार की बात करें करछना ब्लॉक के सभी पांच वार्ड में पार्टी के समर्थित प्रत्याशी चुनाव नहीं जीत सके। यहां पार्टी के बागी उम्मीदवारों ने भी समर्थित प्रत्याशियों के वोट में सेंध लगा दी। करछना तृतीय वार्ड संख्या 54 से भाजपा समर्थित उम्मीदवार सुबोध सिंह चुनाव हार गए। इस सीट से राजेश पटेल को जीत मिली। बताया जा रहा है राजेश पटेल भाजपा से ही हैं।  

इसके अलावा वार्ड 52 से कृष्णा कांत निषाद, 53 से त्रिवेणी प्रसाद पांडेय,  55 से सेवा लाल पटेल और वार्ड 56 से विष्णु प्रसाद शुक्ला को भी हार मिली।हालांकि वार्ड 59 कौंधियारा तृतीय से पार्टी समर्थित उम्मीदवार राजेश कनौजिया चुनाव जीत गए। वार्ड 69 मेजा  द्वितीय से नीलम पटेल चुनाव जीत गई, जबकि वार्ड 76 मांडा द्वितीय पार्टी समर्थित उम्मीदवार सविता त्रिपाठी पीछे चल रही थी।  इसी तरह वार्ड 79 कोरांव प्रथम में आरती देवी कोल की बढ़त रात दस बजे  तकबनी हुई थी। उरुवा द्वितीय वार्ड से प्रतिमा शुक्ला पार्टी की दूसरी नेता आरती राज से हार गई। इसी तरह उरुवा प्रथम सीट भी भाजपा बागी प्रत्याशी की वजह से हार गई। वहीं दूसरी ओर जिला पंचायत अध्यक्ष रेखा सिंह वार्ड संख्या 77 मांडा तृतीय से अच्छी बढ़त बनाए हुए थी। वहीं गंगापार में वार्ड संख्या 13 हंडिया चतुर्थ से भाजपा के वीके सिंह ने चुनाव जीत लिया।