Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

मजदूर अब गांव का बना प्रधान, 1 वोट से एसपी के दिग्गज नेता की बहू को दी शिकस्त

मजदूर अब गांव का बना प्रधान, 1 वोट से एसपी के दिग्गज नेता की बहू को दी शिकस्त

पंकज मिश्रा, हमीरपुरउत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में पंचायत चुनाव में बड़ी आबादी वाले एक ग्राम पंचायत की सत्ता अब एक मजदूर सम्भालेगा। इसने सिर्फ एक वोट से एसपी के पूर्व ब्लॉक प्रमुख की बहू एवं पूर्व प्रधान को शिकस्त दी है। मजदूर की जीत पर गांव में जश्न का माहौल है।हमीरपुर जिले के सुमेरपुर ब्लॉक के बड़ागांव में पूर्व प्रधान कुसुम उर्फ रूबी यादव समेत पांच प्रत्याशी प्रधान पद के लिे चुनाव मैदान में थे। कुसुम यादव उर्फ रूबी एसपी नेता एवं ब्लॉक प्रमुख रहे जयनारायण यादव की बहू हैं। इन्हें कड़ी टक्कर देने के लिए गांव के गरीबों ने हरदौल निषाद को चुनाव मैदान में उतारा था। बीजेपी ने भी इस प्रत्याशी को समर्थन दिया था।मतदान के बाद से ही गांव के लोग हरदौल निषाद की जीत के प्रति आश्वस्त थे। रविवार से शुरू हुई मतगणना सोमवार तड़के तक जारी रही। मतगणना के आखिरी दौर में हरदौल निषाद की जीत पर ब्लॉक प्रमुख और उनके समर्थकों ने दोबारा मतगणना कराने के लिए दबाव बनाया। तीन बार रिकाउटिंग कराने के बाद प्रत्याशी हरदौल निषाद को एक वोट से विजयी घोषित कर दिया गया।उन्हें 475 मत मिले, जबकि कुसुम उर्फ रूबी यादव को 474 मत मिले। गांव में पिछले साल 19 मई को हरदौल निषाद की बेटी की हत्या कर शव नाले में फेंका गया था, जिसमें गांव के कई प्रभावशाली लोग नामजद किए गए थे, अभी तक जिले में 207 ग्राम प्रधानों एवं बीडीसी के परिणाम घोषित किए गए हैं। मजदूरी से चलती है घर की गाड़ी, अब गांव का करेगा विकासहरदौल निषाद पंचायत चुनाव से पहले मजदूरी करके अपने परिवार का भरण-पोषण करते थे। ये अपने गांव और आसपास के इलाकों में मकान बनाने का काम करते थे। पंचायत चुनाव में बिरादरी के लोगों ने एकजुट होकर चुनाव मैदान में उतारा और आखिरी दौर तक लोग जुटे भी रहे। बीजेपी के बूथ अध्यक्ष शिवेन्द्र यादव ने बताया कि हरदौल निषाद को हराने के लिए सोमवार तड़के तीन बार मतगणना एसपी नेता एवं पूर्व ब्लॉक प्रमुख ने करवायी, लेकिन इसके बाद भी उन्हें शिकस्त मिली है। बताया कि ये जीत गांव के गरीबों और मजदूरी की है। निर्वाचित प्रधान हरदौल ने बताया कि श्रीराम ने उनकी लाज रख ली है। गांव के लोग यदि एकजुट न होते तो आज यह खुशी भी नहीं मिलती। कहा कि गांव में विकास कार्य कराने के साथ ही हर गरीब और पात्र लोगों को शासन की योजनाओं का लाभ मिलेगा।

%d bloggers like this: