Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Prayagraj : पंचायतों के लिए देर रात मतगणना जारी, डटे रहे प्रत्याशी और समर्थक

यूपी पंचायत चुनाव रिजल्ट 2021

{“_id”:”608edcc7eee88c61ea6b12ef”,”slug”:”prayagraj-late-night-counting-for-panchayats-continues-candidates-and-supporters-persist”,”type”:”story”,”status”:”publish”,”title_hn”:”Prayagraj : u092au0902u091au093eu092fu0924u094bu0902 u0915u0947 u0932u093fu090f u0926u0947u0930 u0930u093eu0924 u092eu0924u0917u0923u0928u093e u091cu093eu0930u0940, u0921u091fu0947 u0930u0939u0947 u092au094du0930u0924u094du092fu093eu0936u0940 u0914u0930 u0938u092eu0930u094du0925u0915″,”category”:{“title”:”City & states”,”title_hn”:”u0936u0939u0930 u0914u0930 u0930u093eu091cu094du092f”,”slug”:”city-and-states”}}

अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Published by: विनोद सिंह
Updated Sun, 02 May 2021 10:39 PM IST

सार
प्रधानी के 271 और बीडीसी सदस्य के 268 पदों के घोषित हो चुके है परिणाम
जिला पंचायत सदस्य के किसी वार्ड का नहीं आया था नतीजा, रुझान जानने को लेकर रही उत्सुकता

यूपी पंचायत चुनाव रिजल्ट 2021
– फोटो : अमर उजाला।

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

कोरोना संक्रमण के भय के बीच त्रिस्तरीय पंचायतों के लिए रविवार को मतगणना शुरू हुई। देर रात तक प्रधान के 271, क्षेत्र पंचायत (बीडीसी) सदस्य के 268 तथा ग्राम पंचायत सदस्य के 184 पदों के परिणाम की घोषणा हो चुकी थी। शेष के लिए गिनती जारी रही। वहीं जिला पंचायत सदस्य के किसी भी वार्ड का परिणाम घोषित नहीं हुआ था। हालांकि, रुझानों के आधार पर प्रत्याशियों और समर्थकों की ओर से जीत-हार के दावे होते रहे। कई प्रमुख नेता अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी से निर्णायक बढ़त बना चुके थे।जिला पंचायत सदस्य के 84, प्रधान के 1540, बीडीसी के 2086 तथा ग्राम पंचायत सदस्य के 19820 पदों के लिए मतदान हुआ था। इन पदों के लिए सभी 23 ब्लाक में निर्धारित स्थलों पर मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू हुई। कोविड संक्रमण के मद्देनजर कर्मचारियों और अभिकर्ताओं को कोविड प्रोटोकाल से गुजरना पड़ा। ऐसे में कई ब्लाक में मतगणना नौ बजे से शुरू हो सकी। हालांकि इसके बावजूद प्रोटोकाल का उल्लंघन कर लोग जगह-जगह एकत्रित रहे। करछना, हनुमानगंज में पुलिस को लाठी भी भांजनी पड़ी। कुल 487 टेबल पर चारों पदों के लिए मतगणना एक साथ शुरू हुई। दिन में करीब साढ़े बारह बजे से प्रधान पद के परिणाम आने शुरू हो गए। पहला परिणाम कौड़िहार में घोषित हुआ। शाम पांच बजे तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार प्रधान के 122 पदों के रिजल्ट घोषित हो चुके थे। ग्राम पंचायत सदस्य के 72 तथा बीडीसी के 88 पदों के परिणाम आ चुके थे। मतगणना के दौरान उत्सुकता एवं उत्साह का माहौल रहा। मतगणना स्थल तथा आसपास के क्षेत्रों में समर्थकों को एकत्रित नहीं होने दिया जा रहा था। इसके बावजूद विजयी प्रत्याशी के कई समर्थक मतगणना स्थल के पास तक पहुंच जा रहे थे।
गिनती पूरी होने के बाद अभिकर्ताओं को बाहर जाने दिया गया
मतगणना स्थल पर प्रवेश के बाद प्रत्याशियों तथा अभिकर्ताओं को निकलने की अनुमति नहीं थी। गिनती पूरी होने के बाद ही उन्हें बाहर निकलने दिया जा रहा था। इसकी वजह से मतगणना स्थल के बाहर लोगों को परिणाम या रुझान की जानकारी नहीं हो पा रही थी।मांडा, प्रतापपुर में धीमी गिनतीमांडा और प्रतापपुर ब्लाक में मतगणना की गति काफी धीमी रही। शाम पांच बजे तक इन दोनों ब्लाक में प्रधानी के एक भी रिजल्ट नहीं आए थे। चाका में भी मात्र एक तथा जसरा, कौंधियारा में दो-दो पदों के रिजल्ट घोषित हुए थे। वहीं सैदाबाद में 15 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद के परिणाम घोषित हो चुके थे। धनूपुर में 12 तथा बहरिया में प्रधानी के 10 पदों के रिजल्ट घोषित हुए थे।

विस्तार

कोरोना संक्रमण के भय के बीच त्रिस्तरीय पंचायतों के लिए रविवार को मतगणना शुरू हुई। देर रात तक प्रधान के 271, क्षेत्र पंचायत (बीडीसी) सदस्य के 268 तथा ग्राम पंचायत सदस्य के 184 पदों के परिणाम की घोषणा हो चुकी थी। शेष के लिए गिनती जारी रही। वहीं जिला पंचायत सदस्य के किसी भी वार्ड का परिणाम घोषित नहीं हुआ था। हालांकि, रुझानों के आधार पर प्रत्याशियों और समर्थकों की ओर से जीत-हार के दावे होते रहे। कई प्रमुख नेता अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी से निर्णायक बढ़त बना चुके थे।

जिला पंचायत सदस्य के 84, प्रधान के 1540, बीडीसी के 2086 तथा ग्राम पंचायत सदस्य के 19820 पदों के लिए मतदान हुआ था। इन पदों के लिए सभी 23 ब्लाक में निर्धारित स्थलों पर मतगणना सुबह आठ बजे से शुरू हुई। कोविड संक्रमण के मद्देनजर कर्मचारियों और अभिकर्ताओं को कोविड प्रोटोकाल से गुजरना पड़ा। ऐसे में कई ब्लाक में मतगणना नौ बजे से शुरू हो सकी। हालांकि इसके बावजूद प्रोटोकाल का उल्लंघन कर लोग जगह-जगह एकत्रित रहे। करछना, हनुमानगंज में पुलिस को लाठी भी भांजनी पड़ी। 

कुल 487 टेबल पर चारों पदों के लिए मतगणना एक साथ शुरू हुई। दिन में करीब साढ़े बारह बजे से प्रधान पद के परिणाम आने शुरू हो गए। पहला परिणाम कौड़िहार में घोषित हुआ। शाम पांच बजे तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार प्रधान के 122 पदों के रिजल्ट घोषित हो चुके थे। ग्राम पंचायत सदस्य के 72 तथा बीडीसी के 88 पदों के परिणाम आ चुके थे। मतगणना के दौरान उत्सुकता एवं उत्साह का माहौल रहा। मतगणना स्थल तथा आसपास के क्षेत्रों में समर्थकों को एकत्रित नहीं होने दिया जा रहा था। इसके बावजूद विजयी प्रत्याशी के कई समर्थक मतगणना स्थल के पास तक पहुंच जा रहे थे।
गिनती पूरी होने के बाद अभिकर्ताओं को बाहर जाने दिया गया
मतगणना स्थल पर प्रवेश के बाद प्रत्याशियों तथा अभिकर्ताओं को निकलने की अनुमति नहीं थी। गिनती पूरी होने के बाद ही उन्हें बाहर निकलने दिया जा रहा था। इसकी वजह से मतगणना स्थल के बाहर लोगों को परिणाम या रुझान की जानकारी नहीं हो पा रही थी।
मांडा, प्रतापपुर में धीमी गिनती
मांडा और प्रतापपुर ब्लाक में मतगणना की गति काफी धीमी रही। शाम पांच बजे तक इन दोनों ब्लाक में प्रधानी के एक भी रिजल्ट नहीं आए थे। चाका में भी मात्र एक तथा जसरा, कौंधियारा में दो-दो पदों के रिजल्ट घोषित हुए थे। वहीं सैदाबाद में 15 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद के परिणाम घोषित हो चुके थे। धनूपुर में 12 तथा बहरिया में प्रधानी के 10 पदों के रिजल्ट घोषित हुए थे।

%d bloggers like this: