Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Coronavirus night curfew in up: टूटा रेकॉर्ड, दो गुना गंभीर मरीज, रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड 5 गुना बढ़ी… देखें नोएडा में कैसे बिगड़ रहे हालात

Coronavirus night curfew in up: टूटा रेकॉर्ड, दो गुना गंभीर मरीज, रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड 5 गुना बढ़ी... देखें नोएडा में कैसे बिगड़ रहे हालात

नोएडाकोरोना वायरस के गंभीर मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। नोएडा में पिछले साल के अपेक्षा इस साल कोविड अस्पताल में नाजुक मरीजों की संख्या करीब दोगुना हो गई है। डॉक्टरों के मुताबिक, वायरस के प्रभाव की वजह से ज्यादातर मरीजों में ऑक्सिजन का स्तर घट रहा है, लिहाजा उन्हें सपोर्ट दिया जा रहा है। रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड पांच गुना बढ़ गई है।सेक्टर 39 कोविड अस्पताल के आईसीयू में 40 बेड की सुविधा है। सभी बेड पर मरीज भर्ती हैं। अस्पताल के डॉक्टर के मुताबिक, पिछले साल आईसीयू में 15 से 20 गंभीर मरीज ही भर्ती रहते थे, लेकिन इस साल कोरोना की दूसरी लहर में गंभीर मरीजों की संख्या दोगुनी हो गई है।कम पड़ रहे वेंटिलेटर, बाईपेप से ले रहे काम6 मरीजों की तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उन्हें बाईपेप पर रखा गया है। 6 को हाई फ्लो नेजल कैनुला मशीन पर रखा गया है। यह मशीन मरीज को ऑक्सिजन देने के बाद और वेंटिलेटर पर डालने से पहले ब्रिज का काम करती है। बताया जा रहा है कि इनको कोरोना के अलावा निमोनिया, हाईपरटेंशन, डायबिटीज समेत कई अन्य बीमारियां भी हैं। इससे उनकी दिक्कतें और बढ़ गई हैं।रेमडेसिविर इंजेक्शन की डिमांड पांच गुनाकोरोना के गंभीर मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन लगाया जा रहा है। ऐसे में सेक्टर 39 कोविड अस्पताल में इस इंजेक्शन की डिमांड बढ़ गई है। पहले 100 इंजेक्शन से काम चल जाता था, लेकिन अब कोविड अस्पताल की एमएस डॉ. रेनू अग्रवाल ने डीएम से इंजेक्शन के 500 वायल मांगे हैं। यह इंजेक्शन काफी महंगा है। डॉक्टरों का कहना है एक गंभीर मरीज को इस इंजेक्शन के 6 डोज दिए जाते हैं।जोड़ों में दर्द की शिकायत ज्यादाकोविड अस्पताल के डॉ. टीके सक्सेना का कहना है कि दूसरी लहर में सबसे ज्यादा लोगों के फेफड़े और जोड़ों में दर्द की शिकायत है। बुखार पहले की अपेक्षा कम है।किसी को छोड़ने जा रहे तो टिकट की फोटो मोबाइल में रखेंनाइट कर्फ्यू के दौरान अगर आप किसी सगे-संबंधी या रिश्तेदार को बस अड्डे, रेलवे स्टेशन या एयरपोर्ट पर छोड़ने जा रहे हैं, तो संबंधित व्यक्ति के टिकट की फोटो मोबाइल में भी रखें। आपको कहीं रोका जाता है तो आप टिकट की फोटो दिखाकर जा सकते हैं। टिकट उसी दिन का होना चाहिए। इसके अलावा अगर यात्री को छोड़कर कोई कैब चालक या टैक्सी वाला लौटता है तो उसे डीएल सहित अन्य दस्तावेज दिखाने होंगे।3 हजार से ज्यादा चालानउत्तर प्रदेश की गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने बृहस्पतिवार को कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन करने तथा बिना मास्क पहने सार्वजनिक स्थानों पर घूमने वाले 3,364 व्यक्तियों का चालान किया। पुलिस ने इनसे 3,36,400 रुपये का जुर्माना वसूला है। पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के मीडिया प्रभारी ने बताया कि आज 1,685 वाहनों का चालान करते हुए कुल 1,99,900 रुपये शमन शुल्क वसूला गया है। उन्होंने बताया कि 27 वाहनों को जब्त किया गया है।