Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

वाराणसी में कोरोना टीके का संकट, कई केंद्रों पर समय से पहले खत्म हो गई वैक्सीन

प्रतीकात्मक तस्वीर

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी
Published by: गीतार्जुन गौतम
Updated Thu, 08 Apr 2021 01:00 AM IST

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच वैक्सीन का संकट शुरू हो गया है। अगर वैक्सीन नहीं मिली तो बृहस्पतिवार को टीकाकरण कार्यक्रम बाधित हो सकता है। इधर, बुधवार को कई केंद्रों पर समय से पहले ही वैक्सीन खत्म होने से कुछ लोग बैरंग वापस हो गए।स्वास्थ्य विभाग की ओर से बीएचयू, जिला महिला अस्पताल, ईएसआईसी पांडेयपुर समेत शहरी, ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्रों को मिलाकर 50 से अधिक जगह टीकाकरण किया जा रहा है। पिछले दिनों सरकार ने एक अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण का आदेश जारी किया है। उसके बाद से केंद्रों पर भीड़ बढ़ी है। बुधवार को भी सुबह 9 बजे से चयनित केंद्रों पर टीकाकरण शुरू हुआ, तो बड़ी संख्या में लोग टीकाकरण कराने पहुंचे, लेकिन कुछ केंद्रों पर टीकाकरण शुरू होने के 2 से 3 घंटे के भीतर लक्ष्य पूरा हो गया तो कुछ जगह टीका खत्म हो गया। शासन स्तर पर देर शाम तक चली बातचीत
फिलहाल कोरोना की वैक्सीन ही खत्म हो गई है। स्वास्थ्य विभाग ने आने वाले दिनों में फोकस टीकाकरण का भी कार्यक्रम बनाया है। ऐसे में अगर बृहस्पतिवार तक वैक्सीन नहीं आई तो टीकाकरण कराना मुश्किल हो जाएगा। देर शाम तक स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की टीकाकरण के लिए शासन स्तर पर बातचीत चलती रही, लेकिन रात आठ बजे तक वैक्सीन नहीं आ पाई थी। इस बारे में सीएमओ डॉक्टर वीबी सिंह का कहना है कि वैक्सीन का संकट तो है लेकिन अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। बृहस्पतिवार को कुछ चुनिंदा केंद्रों पर ही टीकाकरण किया जाएगा। वैक्सीन कब तक आ जाएगी, कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। इस बारे में शासन को अवगत कराया जा चुका है।टीकाकरण के आंकड़े
06 अप्रैल – 7836
05 अप्रैल – 10465
04 अप्रैल – टीकाकरण नहीं
03 अप्रैल – 7523
02 अप्रैल – 7323
01 अप्रैल – 5821
 

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच वैक्सीन का संकट शुरू हो गया है। अगर वैक्सीन नहीं मिली तो बृहस्पतिवार को टीकाकरण कार्यक्रम बाधित हो सकता है। इधर, बुधवार को कई केंद्रों पर समय से पहले ही वैक्सीन खत्म होने से कुछ लोग बैरंग वापस हो गए।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से बीएचयू, जिला महिला अस्पताल, ईएसआईसी पांडेयपुर समेत शहरी, ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्रों को मिलाकर 50 से अधिक जगह टीकाकरण किया जा रहा है। पिछले दिनों सरकार ने एक अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण का आदेश जारी किया है। उसके बाद से केंद्रों पर भीड़ बढ़ी है। बुधवार को भी सुबह 9 बजे से चयनित केंद्रों पर टीकाकरण शुरू हुआ, तो बड़ी संख्या में लोग टीकाकरण कराने पहुंचे, लेकिन कुछ केंद्रों पर टीकाकरण शुरू होने के 2 से 3 घंटे के भीतर लक्ष्य पूरा हो गया तो कुछ जगह टीका खत्म हो गया।

 
शासन स्तर पर देर शाम तक चली बातचीत

फिलहाल कोरोना की वैक्सीन ही खत्म हो गई है। स्वास्थ्य विभाग ने आने वाले दिनों में फोकस टीकाकरण का भी कार्यक्रम बनाया है। ऐसे में अगर बृहस्पतिवार तक वैक्सीन नहीं आई तो टीकाकरण कराना मुश्किल हो जाएगा। देर शाम तक स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की टीकाकरण के लिए शासन स्तर पर बातचीत चलती रही, लेकिन रात आठ बजे तक वैक्सीन नहीं आ पाई थी। इस बारे में सीएमओ डॉक्टर वीबी सिंह का कहना है कि वैक्सीन का संकट तो है लेकिन अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। बृहस्पतिवार को कुछ चुनिंदा केंद्रों पर ही टीकाकरण किया जाएगा। वैक्सीन कब तक आ जाएगी, कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। इस बारे में शासन को अवगत कराया जा चुका है।टीकाकरण के आंकड़े
06 अप्रैल – 7836
05 अप्रैल – 10465
04 अप्रैल – टीकाकरण नहीं
03 अप्रैल – 7523
02 अप्रैल – 7323
01 अप्रैल – 5821
 

कोरोना की वैक्सीन खत्म हो गई है। इसके लिए शासन स्तर पर बातचीत की जा रही है। जैसे ही वैक्सीन की खेप आएगी, सभी जिलों में नियमानुसार वितरण कराया जाएगा। – डॉ.एसके उपाध्याय, अपर निदेशक स्वास्थ्य